दलित छात्र ने दिया छोटी सोच वालों को जोरदार झटका

नई दिल्ली: पीएमसीएच में एमडी  के एग्जाम में गोल्ड मेडलिस्ट बने डॉ. आलोक रविदास बताते हैं कि उन्हें थ्योरी में ज्यादा नंबर मिले, इसी कारण वे गोल्ड मेडलिस्ट बन पाए। अपनी इस कामयाबी के बारे में डॉ. आलोक बताते हुए कहते हैं कि पिछले साल  नवंबर  में बिहार के सबसे बड़े अस्पताल पीएमसीएच के प्रिंसिपल ने अस्पताल परिसर के प्रतिबंधित क्षेत्र में बाइक चलाने पर पीजी के दलित छात्र डॉ. आलोक रविदास को तमाचा जड़ दिया था। तमाचा खाने के बाद जूनियर डॉक्टर ने भी प्रिंसिपल को घूंसा मार दिया था।

इसके बाद प्रिंसिपल के सुरक्षाकर्मियों ने जूनियर डॉक्टर को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा था। इस पिटाई से दलित डॉक्टर के कान का पर्दा फट गया था। दरअसल निजी एंबुलेंस, निजी वाहन और बाइक का हॉस्पिटल में प्रवेश बंद करने के आदेश के बाद आचार्य और अधीक्षक सुरक्षाकर्मियों के साथ आने जाने वाले गाड़ियों पर रोक लगा रहे थे।

इसी दौरान बाइक सवार जूनियर डॉक्टर अस्पताल के अंदर प्रवेश करने लगे। जूनियर डॉक्टर को इस बैरिकेटिंग के बारे में पता नहीं था। इसके बारे में सवाल करते ही आचार्य एसएन सिन्हा ने अपना आपा खो दिया और जूनियर डॉक्टर को गाली देने के बाद कई थप्पड़ जड़ दिए।

इस घटना के बाद वे जनवरी तक इस मामले से जुड़े रहे, इसके बाद उन्होंने पढ़ाई पर फोकस किया। छोटे से गांव इंडिरा खुर्द के रहने वाले डॉ. आलोक दसवीं में भी इंडिया टेलैंट से स्कॉलरशिप ले चुके हैं। डॉ. आलोक शिक्षण संस्थानों के अंदर व्याप्त जातिवाद की ओर इशारा करते हुए वे कहते हैं कि इंटर्व्यू में तो हम लोगों को कम ही नंबर दिए जाते हैं।

इस मामले में पटना के आईजी अनिल किशोर यादव ने पटना डीआईजी शालिन और एसएसपी मनु महाराज को आदेश दिए थे कि अनुसूचित जाति व जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत सिन्हा को गिरफ्तार किया जाए। हालांकि उन्होंने अपनी गिरफ्तारी पर स्टे ले लिया था। अभी मामला कोर्ट में हैं।

डिस्क्लेमर: इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति nationtimenews.com उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार nationtimenews.com के नहीं हैं, तथा nationtimenews.com उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *