smart-card-become-the-reasn-of-a-women-dead

मौत का कारण बना आधार कार्ड, पढ़े पूरा मामला

सरकार की हर योजना के साथ आधार कार्ड को जोड़ने की इस लंबी रेस में लोग इतने ज्यादा अंधे होते जा रहे हैं कि किसी जान की कीमत भी नहीं समझ पा रहे, ऐसा तो शायद ही किसी ने सोचा होगा। आज आधार कार्ड हमारी पहचान का एक अहम माध्यम बन गया है और हर किसी के लिए यह काफी ज्यादा जरुरी भी हो गया है। ऐसे में अगर आप इलाज कराने के लिए भी जा रहे हैं तो आपके पास इसकी असली कॉपी होनी ही चाहिए। फिर चाहे आप मोबाइल में सही आधार नम्बर बताये या कुछ और दिखाएं उससे काम नहीं चलेगा। एक अस्पताल की कुछ ऐसी ही घटिया हरकते सामने आई है।

यहां एक अस्पताल ने मरीज को सिर्फ इस वजह से अस्पताल में भर्ती नहीं किया क्योंकि उनके पास आधार की ओरिजनल कॉपी मौजूद नहीं थी। इस मामले में एक और हैरान कर देने वाली बात आपको बता दें कि, इलाज न मिल पाने की वजह से अपना दम तोड़ देने वाली यह औरत कारगिल युध्द में शहीद हुए जवान की विधवा थी। ऐसे मुद्दों को सुनकर तो इस तरह के प्रशासन और लोगों पर घिन्न ही आने लग जाती है।

अपनी बीमार मां के इलाज के लिए शहीद का बेटा अस्पताल के आगे कापी समय तक गिड़गिड़ाता रहा लेकिन इस प्राइवेट अस्पताल ने अपने सिस्टम के आगे एक मरीज की जान की कीमत बिलकुल नहीं समझी। अस्पताल का आज्ञाकारी प्रंबधन को तो आधार कार्ड ही चाहिए था। आधार कार्ड की कॉपी फोन में दिखाने से भी काम नहीं चला और अस्पताल अपनी जिद्द पर ही अड़ा रहा और उस विधवा को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा।

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *