jaipur literature festival, padmavat, prasun joshi, karni sena, cancer boarder

करणी सेना की धमकी से डर गए प्रसून जोशी !

फिल्म पद्मावत के रिलीज़ होने के बाद सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी ने एक बड़ा फैसला लिया है। बता दे प्रसून जोशी इस साल जयपुर में होने वाले साहित्य महाकुंभ में शामिल नहीं होंगे। प्रसून जोशी सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष के अलावा साहित्यकार एवं गीतकार भी है। क्योंकि वह साहित्यकार और गीतकार है। इसलिए उन्हें वहां पर बुलाया गया है। लेकिन जानकारी के अनुसार प्रसून ने यह फैसला खुद लिया है।

वह जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल की मर्यादा को देखते हुए इस साल फेस्टिवल में शामिल नहीं होगे। जोशी का कहना है कि विवादों के बीच महाकुंभ की मर्यादा बनी रहे। और मेरी वजह से फेस्टिवल के आयोजन में कोई भी व्यवधान न आए। इसलिए ही मैं नही जा रहा हूं ।

आगे जोशी ने यह भी कहा कि मैंने यह फैसला बहुत भारी मन से लिया है। और मैं इस बार साहित्य और कविताओं की इस गंगा में गोते नहीं लगा पाउंगा । जिसका मुझे बहुत दुख है। जोशी ने जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में न जाने के पीछे के मूल कारणों के बारे में बताया कि फिल्म पद्मावत को लेकर हो रहे विवाद की वजह से मैं नहीं चाहता हूं कि किसी भी अन्य साहित्यकारों और लेखकों को मेरे आने से कोई तकलीफ पहुंचे और आयजकों का कोई भी नुकसान न हो। प्रसून यह भी कहते है कि फेस्टिवल में शामिल होने वालों का केवल साहित्य की गहराई के बारे में जानने से मतलब होना चाहिए न कि कोई विवाद ढूंढने से ।

बता दे जोशी को राजपूत संगठनों की तरफ से धमकी भी मिल चुकी है कि वह जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में शामिल न हो। जिसके बाद सरकार ने उनकी सुरक्षा बढ़ाते हुए उनको जेड सिक्योरिटी मुहैया कराने का फैसला भी लिया था ।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *