‘पद्मावत’ से बॉक्स आफ़िस पर नहीं भिड़ेगी ‘पैडमैन’, अक्षय कुमार ने फिल्म की रिलीज डेट खिसकाई

विवादों के घेरे में घिरी “पद्मावती” जिसका नाम बदल कर ‘पद्मावत’ कर दिया गया है, अभी भी सुर्खियों में बनी हुई है| ‘पद्मावत’ 25 जनवरी के दिन रिलीज होनी है लेकिन हंगामे और शोर के बीच अक्षय कुमार की फिल्‍म ‘पैडमैन’ की रिलीज डेट अब बदल दी गई है| यह फिल्‍म भी पहले 25 जनवरी को ही रिलीज होनी थी| इसका क्‍लैश तब सिद्धार्थ मल्‍होत्रा और मनोज वाजपेयी की ‘अय्यारी’ से था| फिर फिल्म की रिलीजिंग डेट को 25 जनवरी किया गया ताकि वीकएंड पर ज्यादा कमाई के चांस बढ़ सके| गणतंत्र दिवस की सरकारी छुट्टी भी फिल्मों के काम आ जाती| लेकिन तभी ‘पद्मावत’ की नई रिलीज डेट आ गई| क्‍लैश को देखते हुए ‘अय्यारी’ ने 25 जनवरी की रिलीज टाल दी|

पद्मावत के निर्देशक संजय लीला भंसाली ने अक्षय कुमार से खास मुलाकात की| जहां उन्होंने कंट्रोवर्सी की वजह से पद्मावत को होने वाले नुकसान को सामने रखा| भंसाली नहीं चाहते थे कि पैडमैन से क्लैश की वजह से भी फिल्म को नुकसान पहुंचे| लिहाजा, उन्होंने अक्षय से फिल्म आगे बढ़ाने की गुजारिश की|  अक्षय कुमार ने संजय लीला भंसाली का सम्मान करते हुए अपनी फिल्म की रिलीज डेट अब आगे बढ़ा दी है| अब फिल्म 9 फरवरी को अय्यारी और सोनू के टीटू की स्वीटी के साथ क्लैश होगी| पद्मावत के पास अब 4 दिन लंबा वीकेंड होगा| जिसका फायदा बॉक्स ऑफिस पर उसको मिलेगा|

अब देखना यही होगा की ‘पद्मावत’ 25 जनवरी के बाद 4 हफ्तों का कितना फैयदा उठा सकेगी|

2018 में चीन को भी पीछे छोड़ देगा भारत, 7.3 फीसदी रहेगी विकास दर – वर्ल्ड बैंक

भारत लगातार आगे बढ़ता ही जा रहा है, चाहे वो धार्मिक सिद्धांतों की बात हो, सैन्य ताकत की बात हो, दूसरे देशो से मित्रता की बात हो या फिर आर्थिक दर की बात हो| जी हाँ, आपने सही सुना… बजट से ठीक पहले मोदी सरकार के लिए वर्ल्ड बैंक से अच्छी खबर आई है, वर्ल्ड बैंक ने कहा है की 2018 में भारत की विकास दर 7.3 फीसदी रहेगी| रिपोर्ट के मुताबिक इस साल विकास दर के मामले में भारत चीन को भी पीछे छोड़ देगा|

आपको बतादे की चीन 2017 में 6.8 फीसदी की दर से बढ़ा. इस दौरान चीन की वृद्धि दर भारत से 0.1 फीसदी ज्यादा थी| हालांकि 2018 में चीन की रफ्तार घटने का अनुमान लगाया गया है| 2018 में इसके 6.4 फीसदी पर रहने का अनुमान है| वहीं, अगले दो सालों में इसकी रफ्तार और भी कम हो सकती है और यह 6.3 या 6.2 फीसदी के आसपास रहेगी| इस तरह चीन भारत से पिछड़ जाएगा|

विश्व बैंक के डिवेलपमेंट प्रोस्पेक्ट्स ग्रुप के डायरेक्टर आइहन कोसे ने कहा है कि अगले दशक में भारत दुनिया की दूसरी किसी भी उभरती अर्थव्यवस्था की तुलना में उच्च विकास दर हासिल करने जा रहा है| उन्होंने कहा कि उनका फोकस शॉर्ट टर्म के आंकड़ों पर नहीं है| उन्होंने यह भी कहा कि मैं भारत की बड़ी तस्वीर की ओर देखूंगा और यह बड़ी तस्वीर बता रही है कि इसमें विशाल क्षमता है|

बरहाल अभी यह सिर्फ एक रिपोर्ट का अनुमान है, देखना यही होगा की वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट सच साबित होती है या फिर चीन को आर्थिक दर मे पीछे छोंड़ने का अनुमान महज़ एक रिपोर्ट मे ही सिमट का रह जायेगा|

इंडिगो एयरलाइंस के साथ मुसीबत नाम का शब्द जुड़ा, यात्री के पास इंदौर का टिकट लेकिन पहुंचा नागपुर

हवाई यात्रियो के लिए आज कल इंडिगो एयरलाइंस मुसीबत लाने का काम कर रहा है| यह हम नहीं खुद लोग कह रहे है| इंडिगो एयरलाइंस तो अपने लापरवाही और दुर्व्यवहार चलते हर बार की तरह इस बार भी विवादों में आ गया| दिल्ली एयरपोर्ट पर इंडिगो एयरलाइंस की सुरक्षा व्यवस्था में चूक से जुड़ी एक बड़ी घटना सामने आई है, यात्री को जाना था कही और पंहुचा दिया इंडिगो एयरलाइंस ने कही और| सूत्रों  के मुताबिक एक यात्री को 6E656 विमान से इंदौर जाना था, लेकिन उड़ान की सुरक्षा में चूक के चलते यात्री इंदौर के बजाय नागपुर पहुंच गया।

आपको बतादे की उस यात्री के पास इंदौर की उड़ान का टिकट था, लेकिन वह नागपुर की उड़ान में सवार हो गया। इस घटना को इंडिगो ने भी स्वीकार किया है। कंपनी ने कहा कि इस संबंध में उसने तीन सुरक्षाकर्मियों को निलंबित कर दिया है।

गौरतलब है कि कुछ समय पहले इंडिगो एयरलाइंस में यात्रियों से दुर्व्यवहार के कई मामले सामने आए थे। इन्हीं शिकायतों पर संसदीय कमेटी ने इंडिगो को कड़ी फटकार लगाई थी। कमेटी का कहना था कि एयरलाइंस का व्यवहार खराब रहा है, एयरलाइंस ने यात्रियों से सही तरह से बातचीत और सहयोग नहीं किया है। कमेटी इसे एक संस्थागत समस्या बता रही है|

इंडिगो एयरलाइंस के साथ मुसीबत नाम का शब्द जुड़ चुका है, क्योकि इंडिगो एयरलाइंस अपने यात्रियो के साथ दुर्व्यवहार तो करती है साथ ही लापरवाही भी शुरू हो चुकी है|

ना कोई स्टीयरिंग व्हील, गियर शिफ्टर और ना कोई पेडल फिर भी चलेगी ये कार

कार के दीवानों के लिए एक बड़ी खुशखबरी है| अमेरिका की एक दिग्गज कंपनी जनरल मोटर्स के काफी आगे निकलने के संकेत मिल रहे हैं| दरअसल, कंपनी ने अपने क्रूज आटोमैटिक वीइकल का प्रोटोटाइप रिवील किया है| Cruise AV  नाम की इस कार में कोई स्टीयरिंग व्हील नहीं है,  साथ ही गियर शिफ्टर भी नहीं दिया गया है|  खास बात ये है कि इसमें कोई पेडल भी नहीं है| इसका मतलब साफ है कि यह कार बिना मैन्युअली कंट्रोल के चलेगी|  कंपनी ने जैसे ही इसका प्रोटोटाइप जारी किया तभी से इसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है|  इसके प्रॉडक्शन मॉडल को लेकर कंपनी तैयार है| अब जनरल मोटर्स ने अमेरिका के ट्रांसपॉर्टेशन डिपार्टमेंट से इस वाहन को रोड पर टेस्ट करने के लिए अनुमति मांगी है| जनरल मोटर्स इस क्रूज आटोमैटिक वीइकल को 2019 की शुरुआत में सड़क पर टेस्ट करना शुरू कर सकती है। ट्विटर पर जारी तस्वीर में साफ दिख रहा है कि कंपनी ने इसकी पूरी तैयारी कर ली है| कंपनी के एक बयान के मुताबिक उसकी कोशिश है कि एक ऐसी दुनिया बनाई जाए जहां जीरो एमिशन,  क्रैश और कंजेशन हो|  कार के स्टीयरिंग व्हील, गियर शिफ्टर और पेडल्स को छोड़ दिया जाए तो इसका इंटीरियर बाकी कारों के जैसा ही है|

सेंटर कंसोल पर बड़ी टचस्क्रीन दी गई है जिसके पास कई तरह के बटन भी मौजूद हैं|  इसका डैशबोर्ड ड्यूल टोन है और सेंटर कंसोल के टॉप पर ही एसी वेंट्स दिए गए हैं|  इस ऑटोनॉमस व्हीकल्स को जनरल मोटर्स क्रूज डिविजन ने तैयार किया है| जनरल मोटर्स ने क्रूज एवी की तस्वीर ऑनलाइन रिलीज की है|

खैर धीरे धीरे तकनीकि लिहाज़ से इंसान तेज़ी से आगे बढ़ रहा है|

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की दोस्ती और ख़ास 9 बड़े समझौते

जब से पीएम मोदी प्रधानमंत्री की कुर्सी पर आए है तबसे ही भारत का नाम बढता ही जा रहा है, कई बड़े दुसरे देश भारत का लोहा मान रहे है| आपको बतादे की इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू इस वक्त भारत के दौरे पर हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नेतन्याहू के बीच आज एक औपचारिक बैठक हुई, जिसमें दोनों देशों के बीच 9 समझौते हुए। बैठक के बाद पीएम मोदी और नेतन्याहू ने संयुक्त रूप से प्रेस वार्ता करते हुए बयान जारी किया। दोनों देशों के बीच पेट्रोलियम, साइबर सुरक्षा, विमान सेवा, होम्योपैथी, फिल्म कॉपरेशन और सौर ऊर्जा से लेकर ‘इन्वेस्ट इंडिया, इन्वेस्ट इजरायल’ के संबंध में करार हुआ। पीएम मोदी ने इस मौके पर हैदराबाद हाउस में कहा कि उनके दोस्त का भारत आना उनके लिए साल की अच्छी शुरुआत है। उन्होंने कहा, ‘पिछले साल जुलाई में मैं भारत की सवा सौ करोड़ जनता का प्यार लेकर इजरायल गया था। लौटते वक्त इजरायल की जनता और मेरे दोस्त नेतन्याहू का प्यार मेरे साथ था। हम दोनों देशों की दोस्ती को और भी मजबूत बनाएंगे। कृषि, विज्ञान, तकनीक और सुरक्षा के क्षेत्र में हम साथ में काम करेंगे।’

वहीं नेतन्याहू ने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए उन्हें क्रांतिकारी नेता कहा, यही नहीं उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से कहा, ‘आप एक क्रांतिकारी नेता हैं। आपने भारत में क्रांति ला दी है और इसे नए भविष्य की ओर लेकर जा रहे हैं। आपका इजरायल का दौरा बहुत ही महत्वपूर्ण था क्योंकि पहली बार किसी भारतीय नेता ने यह दौरा नहीं किया था।’

अब देखना यही है की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की दोस्ती और 9 समझौते दोनों देशो के लिए कितने कारगर साबित होते है|

 

अंडर-19 वर्ल्ड कप का हुआ आगाज़, भारत की जीत की वजह बने भारतीय गेंदबाज कमलेश नागरकोटी

अंडर-19 वर्ल्ड कप का आगाज़ हो चुका है| भारत का पहला मैच आस्ट्रेलिया के साथ था और इस मैच मे भारत ने जीत हासिल कर ली है, वही भारत की तरफ से खेल रहे 18 वर्षीय भारतीय गेंदबाज कमलेश नागरकोटी ने अपनी गति से सबको चौंका दिया है। आस्ट्रेलिया के खिलाफ मौजूदा मैच में उन्होंने 146 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंकी है। वह लगातार 140 किमी की रफ्तार से गेंद डाल रहे हैं। उनके गेंदबाजी आक्रमण का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि मैच में उन्होने तीन विकेट हासिल किए हैं। उन्होंने सात ओवर में महज 29 रन दिए। खास बात यह रही कि उन्होंने ही टीम के लिए पहला विकेट लिया और जीत की दिशा में बढ़ रही ऑस्ट्रलियाई टीम के रनों पर अंकुश लगाया। इससे पहले पिछले अंडर-19 वर्ल्ड कप में वेस्टइंडीज के युवा गेंदबाज अलजेरी जोसेफ ने 147 किमी प्रति घंटे की औसत से गेंद डालकर सबका ध्यान खींचा था।

{विकेट लेने के बाद खुशी मनाते भारतीय गेंदबाज कमलेश नागरकोटी}

गौरतलब है कि भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए विरोधी आस्ट्रेलियाई टीम के सामने 328 रनों का मुश्किल लक्ष्य रखा था। वही भारतीय टीम के ऊपरी क्रम के सभी बल्लेबाजों ने बेहतरीन बल्लेबाजी की, कप्तान पृथ्वी शॉ ने 94 रन बनाए, वही सलामी बल्लेबाज मंजोत कालरा ने भी 86 रन बनाए और  सुभम गिल ने महज 54 गेंदों में 63 रनों की महत्वपूर्ण पारी खेलकर सबको चौंका दिया। इस दौरन उन्होंने गगनचुंबी छक्का भी लगाया।

वहीं दूसरी तरफ़ लक्ष्य का पीछा करने उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम की शुरुआत अच्छी रही। 50 रन के स्कोर तक टीम कोई विकेट नहीं गंवाया। मगर भारत के उभरते हुए गेंदबाज कमलेश नागरकोटी की रफ्तार के सामने टीम के विकेट पतन की शुरुआत हो गई। और पूरी टीम 228 रने पर ढेर हो गई।

होना हो भारत की शुरूआत बहुत ही अच्छी रही है| कमलेश नागरकोटी की गेंदबाजी मंजोत कालरा,सुभम गिल और कप्तान पृथ्वी शॉ की बल्लेबाजी की बदौलत भारत ऑस्ट्रेलिया जैसे मजबूत दावेदार को हराने मे कामयाब रही देखना अब यही है की अंडर -19 वर्ल्ड कप का खिताब भारत अपने नाम कर पाती है या नहीं?

आईसीसी अंडर 19 वर्ल्ड कप का 13 जनवरी को होगा शुभारम्भ, भारत मजबूत दावेदार

आईसीसी अंडर 19 वर्ल्ड कप के 12वें टूर्नामेंट का आयोजन कल से न्यूजीलैंड में होने जा रहा है| कल यानि 13 जनवरी को  अंडर 19 वर्ल्ड कप का शुभारम्भ होगा| इस  आईसीसी अंडर 19 वर्ल्ड कप के टूर्नामेंट में  16 टीमें हिस्सा ले रही हैं| न्यूजीलैंड के 7 अलग-अलग स्टेडियम में खेले जाने वाला  यह  टूर्नामेंट पुरे 22 दिनों तक  चलेगा| सूत्रों के मुताबिक 14 जनवरी को टीम इंडिया का आमना सामना टीम ऑस्ट्रेलिया से होगा जो की एक बेहद ,मजबूत टीम है|

आपको बतादे की अभी तक के आईसीसी अंडर 19 वर्ल्ड कप में भारत टीम का बोल बाला रहा है| टीम इंडिया का हमेशा बेहतर प्रदर्शन रहा है| तीन बार टीम इंडिया ने यह खिताब अपने नाम किया जबकि दो बार मैन इन ब्लू इस टूर्नामेंट के रनरअप रहे हैं|

राहुल द्रविड़ की कोचिंग और पृश्वी शॉ की कप्तानी में टीम इंडिया को इस वर्ल्डकप में ग्रुप बी में रखा गया है| हर ग्रुप में चार टीमें हैं| यानी टीम इंडिया को ग्रुप स्टेज में तीन मुकाबले खेलने होंगे| ग्रुप बी में टीम इंडिया के साथ ऑस्ट्रेलिया की टीम भी है जिसे जूनियर वर्ल्डकप की सबसे मजबूत टीम मना जाता है| इन दोनों टीमों के अलावा इस ग्रुप में न्यू पापुआ गिनी और जिम्बाब्वे की टीमें भी हैं| लेकिन सवाल यह है की क्या इस बार टीम इंडिया अपने बेहतर प्रदर्शन से आईसीसी अंडर 19 वर्ल्ड कप जीत सकेगा या नहीं?

 

बिटकॉइन की तरह रिलायंस कंपनी टेलीकॉम सेक्टर को हिलाने के लिए निकाल रहा है जिओकॉइन

क्रिप्टोकरेंसी की दुनिया में अभी तक बिटकॉइन का बोलबाला रहा है। साल 2017 में बिटकॉइन ने नई ऊंचाईयों को छुआ जब इसके एक बिटकॉइन की कीमत करीब 13 लाख रुपये तक पहुंच गई थी। बिटकॉइन को एक ऑनलाइन एक्सचेंज के माध्यम से कोई भी खरीद सकता है। इसकी खरीद-फरोख्त से फायदा लेने के अलावा भुगतान के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है।

वही अब दिग्गज कंपनी रिलायंस जिओ तो अपने फ्री कॉलिंग और अनलिमिटेड 4जी डाटा अपने ग्राहकों को देकर देशभर में तो मशहूर है ही| रिलायंस कंपनी टेलीकॉम सेक्टर को हिलाने के बाद अब रिलायंस जियो इन्फोकॉम लिमिटेड अब बिटकॉइन  जैसी करेंसी को मार्केट में उतरने जा रही है। अपनी खुद की बिटकॉइन जैसी करेंसी का नाम जिओकॉइन रखा है|  खबरों के मुताबिक रिलायंस जियो के इस बेहद महत्वूर्ण प्रोजेक्ट का नेतृत्व मुकेश अंबानी के बड़े बेटे आकाश अंबानी करेंगे।

इसके लिए आकाश अंबानी के नेतृत्व में 50 युवा पेशेवरों की एक टीम बनाई जाएगी। टीम में 25 साल के लोग शामिल होंगे। यह टीम जिओ कॉइन के लिए ब्लॉकचेन तकनीक बनाएगी साथ ही इससे जुड़ी अन्य तकनीकी पहलुओं पर नजर रखेगी।

देखना अब यही है की आकाश अम्बानी के नेतृत्व वाली टीम जिओ कॉइन को मार्किट में उतार मुनाफा कमाती है या फिर नुक्सान|

शादी की कार्ड में उत्तराखंड सरकार का लोगो हुआ प्रिंट, बीजेपी विधायक सवालों के घेरे में

बड़े नेताओ और विधायकों का रौब तो हर जगह देखने को मिलता, विधायक और नेता तो अपना रुतबा अपने नेते या बेटी की शादी में दिखाना आम बात है, लेकिन यह रुतबा भारी पड़ गया एक बीजेपी विधायक को|  उत्तराखंड के भाजपा विधायक सुरेश राठौर की अचानक मीडिया में चर्चा शुरू हो गयी है| दरअसल उन्होंने अपनी बेटी की शादी की कार्ड में उत्तराखंड सरकार का लोगो प्रिंट करा दिया है|  कार्ड में लोगो के साथ उत्तराखंड सरकार भी लिखा है|  खबर सामने आने के बाद विवाद बढ़ने की संभावना बढ़ गयी है|

सोशल मीडिया पर कार्ड की तस्वीर आते ही लोगों ने इसे लेकर सवाल भी करने शुरू कर दिए हैं| कई लोगों ने यह भी सवाल उठाया है कि क्या यह शादी सरकारी पैसे से हो रही है जो इसके साथ राज्य सरकार के लोगो को जोड़ा गया है| कई लोगों ने विधायक के इस कदम को नैतिक रूप से भी गलत ठहराते हुए कहा है कि उन्हें इस बात का ध्यान रखना चाहिए था क्योंकि इससे लोगों के बीच में गलत संदेश जा रहा है|

वही जब उनसे पूछा गया की उन्होंने ऐसा क्यों किया तो उन्होंने कहा कि, ‘मैं एक गरीब परिवार की बेटी की शादी अपनी खुद की बेटी की तरह कर रहा था| यह लोगों को क्‍यों नहीं दिखता? मैं सरकार का हिस्‍सा हूं, इसलिए मैंने कार्ड पर लोगो छपवाया| यह कोई अपराध नहीं है| लेकिन अब क्या करे इस काम के बाद हर कोई उनकी आलोचना कर रहा है और इसे भी अब एक मुद्दा बना लिया गया है|