भीख मांगना भी एक बड़ा रोजगार -आरएसएस नेता

13 फरवरी को इंदौर में “कलाम का भारत” विषय पर आयोजित एक बैठक के दौरान आरएसएस के वरिष्ठ नेता इंद्रेश कुमार ने एक बार फिर विवादित बयान देते हुए कहा की भीख मांगना भी देश के 20 करोड़ लोगों का रोजगार है, जिन्हें किसी ने रोजगार नहीं दिया उन लोगों को धर्म में रोजगार मिलता है, इंद्रेश कुमार का यह बयान एक ऐसे समय पर आया है। जब देश में PM मोदी के पकोड़े पर दिए बयान पर विपक्ष लगातार हमलावर है वही कार्यक्रम कार्यक्रम को संभोधित करते हुए इंद्रेश कुमार ने पीएम मोदी के बहुचर्चित पकौड़ा वाले बयान पर अपनी राय रखते हुए कहा की पकौड़े तलना देश के 15 करोड़ से ज्यादा लोगों का व्यवसाय है, और इसे छोटा काम नहीं समझना चाहिए और अगर कोई ऐसा समझता है तो ये बेहद दुखद है।

 

आपको बतादे जहां एक तरफ रोजगार के अवसर प्रदान न कर पाने के चलते केंद्र की मोदी सरकार बैकफुट पर है। तो वही आरएसएस ने नेता लगातार सरकार की मुश्किलें बढ़ाने का काम कर रहे है चाहे वह इंद्रेश कुमार का बयान हो या फिर हाल ही में सेना की तैयारी को लेकर संघ प्रमुख का बयान ही क्यों न हो।