Mayawati, naresh Agarwal, bjp, bsp,Jaya Bachchan, Know why Mayawati lashed out with King Agarwal, Know why Mayawati lashed out with King Agarwal in hindi, nation time hindi news, nation time news

जानें मायावती ने क्यों नरेश अग्रवाल को जमकर लताड़ लगाई?

नरेश अग्रवाल द्वारा जया बच्चन को लेकर दिए बयान की निंदा कई महिला नेताओं ने तो की है और अब बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने भी नरेश अग्रवाल को जमकर लताड़ लगाई है। मायावती द्वारा जारी एक बयान में उन्होंने कहा कि “भाजपा ज्वाइन करने वाले नरेश अग्रवाल ने सांसद और अभिनेत्री जया बच्चन पर टिप्पणी कर के महिला जगत का अपमान किया है। अपने इस महिला विरोधी बयान पर गलती मानते हुए अग्रवाल को देश से माफी मांगनी चाहिए”।

मायावती ने आगे यह भी कहा कि भाजपा के जिम्मेदार नेताओं के साथ पत्रकार वार्ता में महिला विरोधी टिप्पणी महिलाओं और देश को शर्मिंदा करने वाली है। भाजपा के शीर्ष नेतृत्व को इसे गंभीरता से लेना चाहिए था। बसपा प्रमुख ने कहा है कि “जया बच्चन एक सम्मानित नाम है और फिल्म जगत में उनके परिवार का भारी योगदान है। नरेश अग्रवाल की टिप्पणी की बसपा कड़े शब्दों में निंदा करती है और देखेगी कि देश की सत्ताधारी पार्टी नरेश के असंसदीय विचारों को किस रूप में लेगी”।

नरेश अग्रवाल के बयान की चारों तरफ से कड़ी निंदा हो रही है। अब देखना यह है कि क्या नरेश अग्रवाल सांसद जया बच्चन से माफी मांगते है या नहीं।

Mayawati, Rajya Sabha, sp, bjp, bsp, BSP vice president Anand Kumar,BSP vice president Anand Kumar big statement in hindi nation time news hindi, nation time news

राज्यसभा में ‘सपा’ का समर्थन नहीं लेंगी ‘मायावती’

लोकसभा उपचुनाव में मायावती का सपा को समर्थन देने के बाद कयास यह लगाए जा रहे थे कि बसपा प्रमुख मायावती इस समर्थन के बदले राज्यसभा में सपा का समर्थन लेंगी। जिसके  जरिए मायावती अपने भाई और बसपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आनंद कुमार को राज्यसभा भेजना चाहती हैं। लेकिन इन खबरों को सीरे खारिज करते हुए आनंद कुमार ने इसे सिर्फ अफवाह बताया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बीएसपी उपाध्यक्ष आनंद कुमार ने कहा कि “कुछ लोग उनके राज्यसभा उम्मीदवारी को लेकर अफवाहें फैला रहे हैं। ऐसा करके वह बीएसपी और मायावती की छवि को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं जो हमेशा परिवारवाद के खिलाफ खड़ी रहीं”।

आनंद कुमार ने आगे यह भी कहा कि  ‘सभी कयास झूठे हैं. कुछ लोग अपनी टीआरपी बढ़ाने के लिए यह सब बातें उछालते हैं. बहनजी ने यह स्पष्ट किया है कि यह समझौता केवल लोकसभा उपचुनाव के लिए हुआ है। बीजेपी राजनीतिक लाभ के लिए ऐसा प्रचार कर रही है लेकिन मैं बीजेपी या उनके लोगों से डरता नहीं हूं”।

केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े का सामने आया फिर से एक और विवादित बयान

केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े का फिर से एक चौका देने वाला विवादित बयान सामने आया है। हेगड़े  का कहना है कि “राजनीति में लोगों का ध्रुवीकरण करना ही असली लोकतंत्र है”।

बताया जा रहा है कि हेगड़े ने ये बयान तटीय कर्नाटक में अपनी जनसुरक्षा यात्रा के दौरान दिया है। बता दें कि तटीय कर्नाटक साम्प्रदायिक रूप से काफी संवेदनशील माना जाता है। रैली के दौरान जब उनसे पूछा कि क्या ये राज्य में अब तक का सबसे ज्यादा ध्रुवीकरण करने वाला चुनाव है?  तो उन्होंने कहा बिल्कुल, ऐसा ही है, मुझे उम्मीद है कि ऐसा ही होगा ।

बता दें कि कुछ समय पहले भी अनंत हेगड़े ने कहा था कि बीजेपी देश के संविधान को बदलेगी और उसमें से ‘धर्मनिरपेक्ष’ शब्द हटा लिया जाएगा। इस बयान पर काफी हंगामा हुआ था। उनके इस बयान पर जब उनसे सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मैं संविधान और बाबा साहेब अंबेडकर का सम्मान करता हूं। मैंने कुछ गलत नहीं कहा था लेकिन मीडिया ने मेरे बयान को गलत तरीके से पेश किया।

हेगड़े के इस बयान से ऐसा लगता है कि उन्होंने अपना अलग ही एक लोकतंत्र बना लिया है। जिसमें उन्हें राजनीति करने के लिए जो सही लगेगा उसे वह लोकतंत्र से जोड़ देंगे ।

tripura, Bulldozers,statue of Vladimir Lenin, bjp, rajnath singh, nation rime hindi news, nation time news

त्रिपुरा की कई दुकानों में हुई आगजनी और तोड़फोड़, व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति पर बुलडोजर भी चलाया गया

त्रिपुरा के कई इलाकों से तोड़फोड़ और हिंसा की खबरें सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि त्रिपुरा में बीजेपी की जीत के बाद ही ऐसा हुआ है। बता दें कई दुकानों में आगजनी हुई तो वहीं दूसरी तरफ भाजपा समर्थकों ने दक्षिण त्रिपुरा के बेलोनिया में स्थापित रूसी क्रांति के नायक व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति पर बुलडोजर भी चलाया। बताया जा रहा है कि बुलडोजर चलाने वाले डाईवर को पहले शराब पिलाई गई फिर उससे यह काम करवाया गया।

हिंसा और तोड़फोड़ की खबरों के बीच ही गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज राज्य के राज्यपाल और डीजीपी से बात की और नई सरकार के कामकाज संभालने तक राज्य में शांति सुनिश्चित करने को कहा।

त्रिपुरा विधानसभा चुनाव में 25 साल बात सत्ता परिवर्तन देखने को मिला है। और इसी को लेकर कई लोग नाखुश भी है। वही बीजेपी समर्थक अति उत्साह में हंगामा और तोड़फोड़ कर रहे है ।

bjp,Chief Ministers' Comprehensive Wedding Planning,silver beef and payal,silver, nation time hindi news, nation time new

सामूहिक विवाह के नाम पर बीजेपी सरकार का धोखा, चांदी के नाम पर लोहे की बिछिया और पायल दी

उत्तर प्रदेश के औरेया जिले में सामूहिक विवाह का आयोजन किया गया था। बता दें ‘मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना’ के तहत  प्रशासन पर धोखा देने के आरोप लगे हैं। कि गरीब बेटियों की मदद के नाम पर उनके हक का पैसा भी मार लिया गया है।

बता दें मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत औरेया प्रशासन ने 48 जोड़ों की शादी करायी थी। इस कार्यक्रम में दुल्हनों को प्रशासन की ओर से चांदी की बिछिया और पायल दी गई थी। लेकिन जब इन नवविवाहिताओं ने इन बिछिया और पायलों की सुनार से जांच करायी तो पता चला कि ये आभूषण चांदी के नहीं बल्कि लोहे के हैं। इसके बाद महिलाओं ने इसकी शिकायत औरेया के जिलाधिकारी से की है। जिलाधिकारी ने मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं।

हमारी सरकार योजना की घोषणा तो कर देती है लेकिन उसके लिए पर्याप्त इंतजाम नहीं करती और कई बार अधिकारी इन योजना से अपना पेट भर लेते है।

bjp, car, bihar, mujaffarpur, Bolero car, 9 children killed by bjp leader, 9 children killed by bjp leader in hinid, manoj betha bjp leader, nation time hindi news, nation time news

बोलेरो कार से स्कूली बच्चों को मारने वाले बीजेपी नेता ने सरेंडर किया

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में 9 स्कूली बच्चों की मौत के आरोपी मनोज बैठा ने बुधवार  को पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया है। मीडिया खबर के अनुसार घटना में आरोपी को भी चोटें आई हैं। जिसके चलते उसे श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज से पटना मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल शिफ्ट किया गया है।बता दें यह घटना बीते शनिवार 24 फरवरी की है।

मुजफ्फरपुर जिले के मीनापुर क्षेत्र में आरोपी ने बोलेरो कार स्कूली बच्चों पर चढ़ा दी थी जिससे बाद 9 बच्चों की मौत हो गई और 15 से ज्यादा बच्चे घायल हो गए। जिस समय ये घटना घटी तब बोलेरो मनोज चला रहा था। बताया जा रहा है कि आरोपी भाजपा नेता को पार्टी आलाकमान ने उसे बर्खास्त कर दिया है।

पुलिस के अनुसार, धर्मपुर माध्यमिक विद्यालय से छुट्टी के समय सभी बच्चे राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-77 पार करके वापस अपने घर जा रहे थे। तभी एक तेज रफ्तार अनियंत्रित बोलेरो कार ने इन बच्चों को अपनी चपेट में ले लिया। मृतकों की उम्र सात से 13 वर्ष के बीच बताई जा रही है। इस घटना के बाद बोलेरो सड़क के किनारे जाकर पलट गई। घटना के बाद आरोपी फरार हो गया था।

सोचने वाली बात यह है कि जब बिहार में शराब बंदी है तो फिर आरोपी शराब पीकर कैसे गाड़ी चला रहा था। क्या बिहार में सिर्फ नाम के लिए शराब बंदी है।

UP deputy CM Keshav Prasad Maurya UP, BJP, SAPA,congrees, Phulpur Lok Sabha, Kuslendra Singh Patel, Phulpur, Nagendra Pratap Singh Angry students protested against the Deputy CM of UP, Angry students protested, Angry students protested against the Deputy CM of UP in hindi nation time news hindi nation time news hindi, nation time news nation time news

यूपी के डीप्टी सीएम के खिलाफ नाराज छात्रों ने लगाए नारे, गुस्सा आने पर टमाटर और कुर्सियां भी फेंकी

उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की सभा का एक वीडियो सामने आया है। जिसमें लोग उनके खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। बता दें कि ये वीडियो इलाहाबाद का है। जहां पर मौर्य चुनाव प्रचार के लिए गए थे । यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ और वीडियो में लोग उनके खिलाफ जमकर नारेबाजी कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि छात्रों ने उनके खिलाफ ना सिर्फ नारेबाजी की बल्कि टमाटर और कुर्सियां भी फेंकी। जिसके बाद मौर्य ने नाराज छात्रों को मंच पर बुलाया और उनसे बातचीत।  उनकी समस्याओं को दूर करने का आश्वासन भी दिया।

बता दें फूलपुर लोकसभा सीट डीप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के इस्तीफे के बाद खाली हुई थी। फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में भाजपा, सपा और कांग्रेस के बीच त्रिकोणीय मुकाबला माना जा रहा है। भाजपा ने फूलपुर से कौशलेंद्र सिंह पटेल और कांग्रेस ने फूलपुर से मनीष मिश्र सपा ने नागेंद्र प्रताप सिंह को उम्मीदवार बनाया है।

Congress, bjp, mayawati, bsp, Mayawati said Congress and BJP Chor-Thieves Look Like Monsieur Brothers, nation time hindi news news time news

“कांग्रेस और बीजेपी चोर-चोर मौसरे भाई ही लगते है” मायावती ने ऐसा क्यों कहा

बीएसपी प्रमुख मायावती ने कोयला क्षेत्र का निजीकरण करने को लेकर केंद्र सरकार की कड़ी आलोचना की है। बता दें 24 फरवरी को दिल्ली में बीएसपी के केंद्रीय कार्यालय से जारी विज्ञप्ति में मायावती ने कहाकि मोदी सरकार द्वारा राष्ट्रीय संपत्ति कोयला का भी निजीकरण करके प्राइवेट कंपनियों को कोयला खदानों में उत्पादन और इस्तेमाल की अनुमति देने का फैसला वास्तव में‘धन्नासेठों के तुष्टिकरण’ की एक और नीति है।

मायावती ने कहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी मुट्ठीभर बड़े-बडे पूंजीपतियों और धन्नासेठों के हित लगातार काम किए जा रहे हैं, परंतु देश के सवा सौ करोड़ गरीबों, मजदूरों,किसानों,युवा बेरोजगारों और  अन्य मेहनतकश लोगों से किए गए ‘अच्छे दिन’के वादे आदि क्यों नहीं पूरे किए जा रहे हैं। जबकि इनमें ही देश का असली हित निहित है।

उन्होंने ये भी कहा कि मोदी सरकार के लगभग 4 वर्ष के कार्यकाल में देश की आम जनता ने यह महसूस कर लिया है कि देश की संपत्ति को लूटने और लुटाने के मामले में कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही पार्टियों की सरकारें चोर-चोर मौसरे भाई ही लगते हैं, जो कि देशहित में अत्यंत ही घातक प्रवृति है।

अब देखना यह है कि विपक्ष इस बयान पर अपनी क्या प्रतिक्रिया देती है।

Dalit persecution once again, amar singh, Dalit Sub Inspector, Dalit Sub Inspector amar sing want to die,Dalit Sub Inspector amar sing want to die in hindi, bjp, madhyapradesh,nation time news hindi, nation time news

बीजेपी शासित राज्य में एक बार फिर से दलित उत्पीड़न, दलित सब इंस्पेक्टर ने मांगी इच्छा मृत्यु

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल  से एक बहुत ही चौका देने वाली खबर सामने आई है। बता दें भोपाल से अमर सिंह नाम के एक सब इंस्पेक्टर मरना चाहते है। उन्होंने पंफलेट छपवाया है। और उसके माध्यम से मरने के लिए इजाजत मांगी है। बता दें अमर सिंह को उनके अपने ही पुलिस विभाग द्वारा साल 2006 से परेशान किया जा रहा है। जिससे तंग होकर उन्होंने डीजीपी से लेकर राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यपाल, मुख्यमंत्री से इच्छा मृत्यु मांगी।

6 दिसंबर 2006 में अमर सिंह पर भ्रष्टाचार का आरोप लगा था। जिसके बाद पुलिस महकमें ने उन्हें सस्पेंड कर दिया। एक पुलिसकर्मी को विभाग द्वारा सस्पेंड किए जाने के लिए कुछ नियम कानून तय है। जिसकी अनदेखी की गई।

उनपर भ्रष्टाचार से जुड़ा मामला अदालत में चलता रहा। और अदालत ने भी 12 अगस्त 2014 को अमर सिंह को दोषमुक्त कर दिया। लेकिन दोषमुक्त होने के बावजूद उन्हें निलंबन के दौरान की 8 महीने की सैलरी नहीं मिली तो वहीं उनके तीन इंक्रिमेंट को रोक दिया गया।

अमर सिंह ने आरोप लगाया है कि “उन्हें प्रोमोशन तो मिल गया है लेकिन पिछले आठ महीने के वेतन को लेकर हाईकोर्ट में भोपाल पुलिस की तरफ से जवाब पेश नहीं किए जा रहे है।

जिससे इस मामले में अदालत कोई भी निर्णय नहीं ले पा रही है। राष्ट्रपति ने प्रदेश के चीफ सेक्रेट्री को इस मामले में निष्पक्ष जांच के लिए पत्र लिखा है। लेकिन राष्ट्रपति के पत्र को भी गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है जिससे परेशान होकर उन्होंने यह कदम उठाया है।